Sale!

Man Ka Kaha (Hindi)

350.00 234.00

This book is in Hindi language. Poems by Mr. Harish Chander Gera, who believes in putting strong message with simple language. Style of writing is like ‘Sufi’, which connects you to God. विराम भी कविता है, आराम भी कविता है। सुंदर भाव भी कविता है, प्रभु सुमिरन भी कविता है। अच्छे भजन भाव शुभ विचार आते हैं, जोकि मन की कविता को नहीं छुपाते हैं। गुरु कृपा से कविता खुद ही बन जाती है, कुछ अनुभव कुछ सन्देश भी दे जाती है। कभी रूपहीन है, कविता रंगीन भी है, कविता छांव भी है, कविता संगीन भी है।

SKU: BOOK2034 Category:

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Man Ka Kaha (Hindi)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *